web stats
Home / Hindi / गुड के औषधीय गुण – Good medicinal properties

गुड के औषधीय गुण – Good medicinal properties

Good medicinal properties

Good medicinal properties
Prepared from sugarcane molasses pure, unrefined whole sugar . The minerals and vitamins which is originally present in sugarcane juice . It is natural . It is necessary to be taken on the native good , the color is not clear soda or other chemicals . It would be kinda dark . , It is considered the purest form of sugar . Molasses is used primarily in Southeast Asia . In rural India, the use of molasses is used in place of sugar . Molasses is a major source of Lohttw and anemia ( anemia) The victim is advisable to use it in place of sugar . According to Ayurvedic medicine molasses consumption is beneficial in treating throat and lung infections .
– Native molasses is formed naturally and no chemicals are not used for its processing , so it does not lose its original properties , so it contains important minerals like salts .
– Molasses sucrose and glucose , which is essential for the healthy functioning of the body is a good source of minerals and vitamins .
– Molasses is a good source of magnesium , causing the muscles , nerves and blood vessels, relieves fatigue .
– Good with small amounts of sodium – even with a good source of potassium , it helps to maintain blood pressure control .
– After a little good- eat meals ; All food will be digested properly and quickly .
– Molasses is very good for people suffering from anemia because it is a good source of iron in the body helps to increase hemoglobin levels .
– It is with selenium acts as an antioxidant .
– Molasses medium amount of calcium, phosphorus and zinc which helps to maintain good health .
– It also helps in purification of blood , rheumatic afflictions and disorders of bile molasses along with preventing helps in the treatment of jaundice .
– Molasses helps the body get rid of toxins . In winter , it helps to regulate body temperature .
– The cough , asthma , indigestion , migraine , fatigue and other health problems in dealing with this kind of helps . – It instantly gives you energy during the crisis .
– Girls, it is helpful to regulate menstruation .
– Molasses is beneficial in treating throat and lung infections .
– It helps to strengthen the person’s nervous system .
– Good water retention in the body regulates body weight by decreasing .
– In addition to the above properties molasses people living in high-level air pollution helps to fight it , briefly put, a molasses foods , medicine more

*****************

 गुड के औषधीय गुण
गुड़ गन्ने से तैयार एक शुद्ध, अपरिष्कृत पूरी चीनी है। यह खनिज और विटामिन है जो मूल रूप से गन्ने के रस में ही मौजूद हैं। यह प्राकृतिक होता है। पर लिए ज़रूरी है की देशी गुड लिया जाए , जिसके रंग साफ़ करने में सोडा या अन्य केमिकल ना हो। यह थोड़े गहरे रंग का होगा।इसे चीनी का शुद्धतम रूप माना जाता है। गुड़ का उपयोग मूलतः दक्षिण एशिया मे किया जाता है। भारत के ग्रामीण इलाकों मे गुड़ का उपयोग चीनी के स्थान पर किया जाता है। गुड़ लोहतत्व का एक प्रमुख स्रोत है और रक्ताल्पता (एनीमिया) के शिकार व्यक्ति को चीनी के स्थान पर इसके सेवन की सलाह दी जाती है। आयुर्वेदिक चिकित्सा के अनुसार गुड़ का उपभोग गले और फेफड़ों के संक्रमण के उपचार में लाभदायक होता है।
– देशी गुड़ प्राकृतिक रुप से तैयार किया जाता है तथा कोई रसायन इसके प्रसंस्करण के लिए उपयोग नहीं किया जाता है, जिससे इसे अपने मूल गुण को नहीं खोना पड़ता है, इसलिए यह लवण जैसे महत्वपूर्ण खनिज से युक्त होता है।
– गुड़ सुक्रोज और ग्लूकोज जो शरीर के स्वस्थ संचालन के लिए आवश्यक खनिज और विटामिन का एक अच्छा स्रोत है।
– गुड़ मैग्नीशियम का भी एक अच्छा स्रोत है जिससे मांसपेशियों, नसों और रक्त वाहिकाओं को थकान से राहत मिलती है।
– गुड़ सोडियम की कम मात्रा के साथ-साथ पोटेशियम का भी एक अच्छा स्रोत है, इससे रक्तचाप को नियंत्रित बनाए रखने में मदद मिलती है।
– भोजन के बाद थोडा सा गुड खा ले ; सारा भोजन अच्छे से और जल्दी पच जाएगा।
– गुड़ रक्तहीनता से पीड़ित लोगों के लिए बहुत अच्छा है, क्योंकि यह लोहे का एक अच्छा स्रोत है यह शरीर में हीमोग्लोबिन स्तर को बढाने में मदद करता है।
– यह सेलेनियम के साथ एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है।
– गुड़ में मध्यम मात्रा में कैल्शियम, फास्फोरस और जस्ता होता है जो बेहतर स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।
– यह रक्त की शुद्धि में भी मदद करता है, पित्त की आमवाती वेदनाओं और विकारों को रोकने के साथ साथ गुड़ पीलिया के इलाज में भी मदद करता है।
– गुड़ शरीर को विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करता है। सर्दियों में, यह शरीर के तापमान को विनियमित करने में मदद करता है।
– यह खांसी, दमा, अपच, माइग्रेन, थकान व इसी तरह की अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं से निपटने में मदद करता है। – यह संकट के दौरान तुरन्त ऊर्जा देता है।
– लड़कियों के मासिक धर्म को नियमित करने यह मददगार होता है।
– गुड़ गले और फेफड़ों के संक्रमण के इलाज में फायदेमंद होता है।
– यह व्यक्ति के तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में सहायक होता है।
– गुड़ शरीर में जल के अवधारण को कम करके शरीर के वजन को नियंत्रित करता है।
– उपरोक्त गुणों के अतिरिक्त गुड़ उच्च स्तरीय वायु प्रदूषण में रहने वाले लोगों को इससे लड़ने में मदद करता है, संक्षेप में कहें, तो गुड़ एक खाद्य पदार्थ कम, औषधि ज्यादा है।

Story Source: पूज्य आचार्य

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*