Home / Hindi / अर्श रोग , बवासीर , Piles , Arsh disease , hemorrhoids , Piles

अर्श रोग , बवासीर , Piles , Arsh disease , hemorrhoids , Piles

hemorrhoids

अर्श रोग [बवासीर ] Piles
बवासीर गुदा मार्ग की बीमारी है | यह मुख्यतः दो प्रकार की होती है — खूनी बवासीर और बादी बवासीर | इस रोग के होने का मुख्य कारण ” कोष्ठबद्धता ” या ”कब्ज़ ” है | कब्ज़ के कारण मल अधिक शुष्क व कठोर हो जाता है और मल निस्तारण हेतु अधिक जोर लगाने के कारण बवासीर रोग हो जाता है | यदि मल के साथ बूंद -बूंद कर खून आए तो उसे खूनी तथा यदि मलद्वार पर अथवा मलद्वार में सूजन मटर या अंगूर के दाने के समान हो और मल के साथ खून न आए तो उसे बादी बवासीर कहते हैं | अर्श रोग में मस्सों में सूजन तथा जलन होने पर रोगी को अधिक पीड़ा होती है |
बवासीर का विभिन्न औषधियों द्वारा उपचार ——-

१- जीरा – एक ग्राम तथा पिप्पली का चूर्ण आधा ग्राम को सेंधा नमक मिलाकर छाछ के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से बवासीर ठीक होती है |
२- जामुन की गुठली और आम की गुठली के अंदर का भाग सुखाकर इसको मिलाकर चूर्ण बना लें | इस चूर्ण को एक चम्मच की मात्रा में हल्के गर्म पानी या छाछ के साथ सेवन से खूनी बवासीर में लाभ होता है |
३- पके अमरुद खाने से पेट की कब्ज़ दूर होती है और बवासीर रोग ठीक होता है |
४- बेल की गिरी के चूर्ण में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर , ४ ग्राम की मात्रा में पानी के साथ सेवन करने से खूनी बवासीर में लाभ मिलता है |
५- खूनी बवासीर में देसी गुलाब के तीन ताज़ा फूलों को मिश्री मिलाकर सेवन करने से आराम आता है |
६ – जीरा और मिश्री मिलकर पीस लें | इसे पानी के साथ खाने से बवासीर [अर्श ] के दर्द में आराम रहता है |
७- चौथाई चम्मच दालचीनी चूर्ण एक चम्मच शहद में मिलाकर प्रतिदिन एक बार लेना चाहिए | इससे बवासीर नष्ट हो जाती है |

Story Source: पूज्य आचार्य

*******************

Arsh disease [hemorrhoids] Piles
Hemorrhoids anal passage disease | It is mainly two types–the bloody piles and badi hemorrhoids | The main cause of this disease being ‘ constipated ‘ koshthabaddhata ‘ “or” ‘ | Constipation is more dry and hard stools due to and put more emphasis on sewage disposal is due to hemorrhoids disease | If the stool can come with drop-drop the bloody blood and swelling on or if maladvar maladvar peas or grape weeds and the shit don’t bleed with badi hemorrhoids | Swelling and irritation arsh is used medically as disease the patient is painful |
Hemorrhoids treatment by different drugs — — — — — — —

1-cumin-a village and all the half-gram rock salt mixed pippali buttermilk with daily morning-evening drinking fixes hemorrhoids |
2-seeds and berries are all part of the inside of the kernels make it sukhakar powders | This includes the amount of light in a teaspoon of hot water or buttermilk drink with the killer would benefit in hemorrhoids |
3-remove the stomach from eating cooked good potential for guava constipation and hemorrhoids disease is fine |
4-Bell in the kernel of the whole powder 4 g mishri in equal measure the amount of water intake to get profit in bloody piles |
5-bloody piles in all three recent homegrown roses flowers mishri comes to rest.
6-be sure to grind cumin and mishri together | It’s eating piles with water [arsh] remains rest in pain |
7-1/4 TSP cinnamon powder all in one teaspoon honey should take once daily. It is be lost hemorrhoids |

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


*