Home / Hindi / अमरबेल – Dodder

अमरबेल – Dodder

Dodder

अमरबेल

यह एक ही वृक्ष पर प्रतिवर्ष पुनः नवीन होती है तथा यह वृक्षों के ऊपर फैलती है , भूमि से इसका कोई सम्बन्ध नहीं रहता अतः आकाशबेल आदि नामों से भी पुकारी जाती है | अमरबेल एक परोपजीवी और पराश्रयी लता है , जो रज्जु [रस्सी ] की भांति बेर , साल , करौंदे आदि वृक्षों पर फ़ैली रहती है | इसमें से महीन सूत्र निकलकर वृक्ष की डालियों का रस चूसते रहते हैं , जिससे यह तो फलती- फूलती जाती है , परन्तु इसका आश्रयदाता धीरे – धीरे सूखकर समाप्त हो जाता है | आज हम अमरबेल के कुछ औषधीय गुणों की चर्चा कर रहे हैं —-

१-अमरबेल को तिल के तेल में या शीशम के तेल में पीसकर सर पर लगाने से गंजेपन में लाभ होता है तथा बालों की जड़ मज़बूत होती हैं | यह प्रयोग धैर्य पूर्वक लगातार पांच से छह सप्ताह करें |
२- लगभग ५० ग्राम अमरबेल को कूटकर १ लीटर पानी में पकाकर , बालों को धोने से बाल सुनहरे व चमकदार बनते हैं तथा बालों का झड़ना व रुसी की समस्या इत्यादि भी दूर होती हैं |
३- अमरबेल के १०-२० मिलीलीटर रस को जल के साथ प्रतिदिन प्रातःकाल पीने से मस्तिष्कगत तंत्रिका [Nervous System ] रोगों का निवारण होता है |
४- अमरबेल के १०मिली स्वरस में ५ ग्राम पिसी हुई काली मिर्च मिलाकर खूब घोटकर नित्य प्रातः काल ही रोगी को पिला दें | तीन दिन में ही ख़ूनी और बादी दोनों प्रकार की बवासीर में विशेष लाभ होता है |
५- अमरबेल को पीसकर थोड़ा गर्म कर लेप करने से गठिया की पीड़ा में लाभ होता है तथा सूजन शीघ्र ही दूर हो जाती है । अमरबेल का काढ़ा बनाकर स्नान करने से भी वेदना में लाभ होता है |
६- अमरबेल के २-४ ग्राम चूर्ण को या ताज़ी बेल को पीस कर थोड़ी सी सोंठ और थोड़ा सा घी मिलाकर लेप करने से पुराना घाव भी भर जाता है |

Story Source: पूज्य आचार्य

**********************

Dodder

This is the same tree every year re-innovative and spreads up the trees, the land ceases to be an affiliate with akashbel etc. names is also therefore always | Get a paropjivi and Cuscuta parashar, who like Berry, rajju [rope] year, keeps on failee trees karaunde etc. Of this fine thread coming out of the tree stems are suck the juice, which it is, but it flourishes ashraydata gradually sekhar ends | Today we discuss some of the medicinal properties of Dodder are – – –

1-Dodder in the sesame oil or rosewood oil would benefit from putting on a Sir is the root cause of baldness and hair are strong. It patiently, five to six consecutive weeks.
2-about 50 g in 1 liter of water to baked kutkar to Dodder, hair are blonde and shiny from washing and hair loss and Russian are also a problem, and so on.
3-10-20 ml of juice Dodder with water every day, taking a drink from the mastishkagat nerve [Nervous System] is the prevention of diseases.
Serves 4-5 grams of Cuscuta 10mili coarsely pepper has been fed only continual ghotkar morning call plenty patient | In three days the killers and would benefit both badi in hemorrhoids |
Warm the mixture a little 5-Dodder from the pain of arthritis would benefit in liniment and inflammation goes away soon. Cuscuta in BREW and would benefit from baths to Pang |
6-2-4 grams of powder Dodder or slightly dry gingers make grinding fresh vine and a little melted butter all over the old wounds are also liniment |

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*