Home / Hindi / Coconut – नारियल

Coconut – नारियल

Coconut

नारियल [Coconut ]

यह मूल रूप से प्रशांत महासागरीय द्वीप एवं म्यांमार , श्रीलंका एवं अन्य उष्णकटिबंधीय समुद्रतटवर्ती प्रदेशों में पाया जाता है | भारत में यह विशेषतः केरल , उड़ीसा , पश्चिम बंगाल , महाराष्ट्र , गुजरात एवं दक्षिण भारत में सर्वत्र पाया जाता है | जिस प्रकार देवताओं में श्री गणेश जी प्रथम प्रतिष्ठित किए गए हैं , ठीक उसी प्रकार फलों में नारियल का स्थान है | आठ यह श्रीफल कहलाता है | इसका पुष्पकाल एवं फलकाल वर्षपर्यंत तक होता है |
नारियल के पेड़ समुद्र के किनारे पर उगते हैं | लगभग ७ से ८ साल बाद इस पर फल लगते हैं | नारियल का फल और पानी खाने-पीने में शीतल होता है । नारियल में कार्बोहाइड्रेट और खनिज क्षार काफी मात्रा में पाया जाता है | इसमें विटामिन और अनेक लाभदायक तत्व मिलते हैं | नारियल के पानी में मैग्नीशियम और कैल्शियम भी होता है | सूखे नारियल में इन तत्वों की मात्रा कम होती है |
विभिन्न रोगों में नारियल से उपचार —-
१- नारियल-पानी पीने से उलटी आना और अधिक प्यास लगना कम हो जाता है |
२- नारियल के पानी में नमक डालकर पीने से पेट के दर्द में आराम मिलता है |
३-नारियल के तेल की सिर में मालिश करने से बालों का गिरना बंद हो जाता है |
४-प्रतिदिन नारियल पानी चेहरे पर लगाने से चेहरे के कील- मुँहासे , दाग- धब्बे और चेचक के निशान दूर हो जाते हैं |
५ -सूखे नारियल को घिसकर बुरादा बना लें , फिर एक कप पानी में एक चौथाई कप बुरादा भिगो दें | दो घंटे बाद इसे छानकर नारियल का बुरादा निकालकर पीस लें | इसकी चटनी-सी बनाकर भिगोए हुए पानी में घोलकर पी जाएँ | इस प्रकार इसे प्रतिदिन तीन बार पीने से खांसी , फेफड़ों के रोगऔर टी.बी. में लाभ होता है।|
६- नारियल के तेल और कपूर को मिलाकर एग्ज़िमा वाले स्थान पर लगाने से लाभ मिलता है |
७- शरीर के किसी भाग के जलने पर प्रतिदिन उस स्थान पर नारियल का तेल लगाने से जलन भी शांत होती है तथा निशान भी नहीं पड़ता है |

Story Source: पूज्य आचार्य

****************************

Coconut 

It’s basically a Pacific Ocean islands and Myanmar, Sri Lanka and the other is found in the tropical samudrattavarti | In India especially Kerala, Orissa, West Bengal, Maharashtra, Gujarat and southern India is found universally in | The gods were first distinguished Mr. Ganesh-ji, exactly as is the location of the coconut fruit | Eight it is called Quince | The pushpakal & phalkal up varshaparyant |
Coconut trees are rising on the edge of the sea. About 7 to 8 years later takes the fruit | Coconut fruit and water is in soft food. Coconut in carbohydrates and minerals in alkali is found. There are many beneficial vitamins and elements | Coconut water also contains magnesium and calcium. Dried coconut reduce the amount of these elements.
Various diseases in coconut treatment — — — —
1-coconut-drinking water come to embark more paradoxical than thirst becomes less |
2-drinking coconut water salt stomach pain prop |
3-head massage of coconut oil to hair fall stops |
4-day coconut water on face by face nail-acne, scars-spots and smallpox are off the mark.
5-dried coconut to make ghiskar filings, then 1 cup water 1/4 cup soaked sawdust | Two hours later it chankar coconut sawdust by removing grinding bike | Its sauce-making bhigoe go into the water by a gholkar p | Thus it three times a day from drinking cough, Lung rogaaur t. b. Would benefit in. |
All

6-coconut oil and camphor to get benefit from applying the egzima location |
7-any part of the body burns daily on the coconut oil by burning too cool and doesn’t scar too.

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


*