Home / Hindi / अजीर्ण – Indigestion

अजीर्ण – Indigestion

Indigestion

अजीर्ण (अपच)
पाचन तंत्र में किसी गड़बड़ी के कारण भोजन न पचने को अजीर्ण या अपच कहते हैं | कई बार समय-असमय भोजन करने से,कभी-भी,कहीं-भी,कुछ-भी खाने-पीने तथा बार-बार खाते रहने से पहले खाया हुआ भोजन ठीक से पच नहीं पाता है और दूसरा भोजन पेट में पहुँच जाता है | ऐसे में पाचनतंत्र भोजन को पूर्ण रूप से नहीः पचा पाता जो अजीर्ण का मुख्य कारण है | अधिक तला-भुना या मिर्च मसाले युक्त भोजन के सेवन से भी अजीर्ण या अपच हो जाता है |
इस रोग में रोगी को भूख नहीं लगती,खट्टी डकारें आती हैं,छाती में तेज़ जलन होती है,पेट में भारीपन महसूस होता है तथा बैचैनी सी होती रहती है | रोगी को पसीना अधिक आता है , नींद भी नहीं आती और कभी-कभी अतिसार [दस्त ] भी होता है |
अजीर्ण का विभिन्न औषधियों द्वारा उपचार ———
१-अजवायन तथा सौंठ पीसकर चूर्ण बना लें | यह चूर्ण दिन में दो बार शहद के साथ चाटने से अपच में आराम मिलता है |
२-छाछ गरिष्ठ वस्तुओं को पचाने में बहुत लाभकारी होता है | छाछ में सेंधा नमक , भुना जीरा तथा कालीमिर्च मिलाकर सेवन करने से अजीर्ण रोग दूर होता है |
३-अजवायन -200 ग्राम , हींग -4 ग्राम और कालानमक -20 ग्राम को एक साथ पीसकर चूर्ण बना लें | यह चूर्ण 2 -2 ग्राम की मात्रा में सुबह -शाम गुनगुने पानी से खाने से लाभ होता है |
४-मेथी को पीस कर चूर्ण बना लें | इस चूर्ण को दिन में तीन बार 1-1 चम्मच गर्म पानी से खाने से अपच , पेटदर्द व भूख न लगना आदि दूर होता है |
५-प्रतिदिन पके हुए बेल का शर्बत पीने से अजीर्ण रोग ठीक होता है |
६-ताज़े पानी में आधे नींबू का रस , एक चम्मच अदरक का रस और चुटकी भर नमक मिलाकर पीने से अपच दूर होता है |
७-हरड़ , पिप्पली व सौंठ बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें | यह चूर्ण 3 -3 ग्राम दिन में दो बार , पानी के साथ सेवन करने से अजीर्ण में लाभ होता है |

Story Source: पूज्य आचार्य

********************

Indigestion (dyspepsia)
Due to a disturbance in the digestive tract food not pachne the indigestion or dyspepsia | Many times, the meal time premature – also, somewhere, some – even food and repeatedly has eaten before meal account stay cannot properly digestible and another food reaches the stomach. The pachnatantra finds which completely digest food is the main cause of indigestion nahiah | More fried-roasted or chili spices containing food intake also gets indigestion or dyspepsia |
In this disease the patient doesn’t seem to be hungry, come drink sour, chest heaviness in the abdomen, a fast burning feel and keeps a baichaini c | The patient does not sleep, the more sweat and sometimes diarrhoea is also [diarrhea] |
Indigestion treatment by different drugs — — — — — — — — —
1-create a thyme and saunth powders | It includes a couple of times to get comfortable in the chatne of indigestion with honey |
Digest 2-residue is very beneficial objects garishth | Buttermilk whole cumin and pepper rock salt, roast in plenty of indigestion disease away |
3-thyme-200 g, Hing-4 and kalanmak-20 g make a meal together. It includes 2-2 grams of warm water in the morning-evening would benefit from eating |
4-make the grind the fenugreek powder | This meal three times a day 1-1 tablespoon hot water petdard and indigestion from eating, loss of appetite etc away |
5-daily baked Quince sorbet drink is OK from indigestion disorders |
6-fresh water in half the lemon juice, a teaspoon of ginger juice and pinch of salt in all drinking indigestion away |
7-taking equal amounts and harad, pippali saunth make powders | It includes 3-3 g twice a day, with water intake is the indigestion in |

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*