Home / Hindi / स्नान-विधि – Bath – Method

स्नान-विधि – Bath – Method

Bath

स्नान-विधि

प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व उठकर शौच-स्नानादि से निवृत्त हो जाना चाहिए। निम्न प्रकार से विधिवत् स्नान करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।

स्नान करते समय 12-15 लीटर पानी बाल्टी में लेकर पहले उसमें सिर डुबोना चाहिए, फिर पैर भिगोने चाहिए। पहले पैर गीले नहीं करने चाहिए। इससे शरीर की गर्मी ऊपर की ओर बढ़ती है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

अतः पहले बाल्टी में ठण्डा पानी भर लें। फिर मुँह में पानी भरकर सिर को बाल्टी में डालें और उसमें आँखें झपकायें। इससे आँखों की शक्ति बढ़ती है। शरीर को रगड़-रगड़ कर नहायें। बाद में गीले वस्त्र से शरीर को रगड़-रगड़ कर पौंछें जिससे रोमकूपों का सारा मैल बाहर निकल जाय और रोमकूप(त्वचा के छिद्र) खुल जायें। त्वचा के छिद्र बंद रहने से ही त्वचा की कई बीमारियाँ होती हैं। फिर सूखे अथवा थोड़े से गीले कपड़े से शरीर को पोंछकर सूखे साफ वस्त्र पहन लें। वस्त्र भले ही सादे हों किन्तु साफ हों। स्नान से पूर्व के कपड़े नहीं पहनें। हमेशा धुले हुए कपड़े ही पहनें। इससे मन भी प्रसन्न रहता है।

आयुर्वेद के तीन उपस्तम्भ हैं- आहार, निद्रा और ब्रह्मचर्य।

जीवन में सुख-शांति न समृद्धि प्राप्त करने के लिए स्वस्थ शरीर की नितांत आवश्यकता है क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन और विवेकवती कुशाग्र बुद्धि प्राप्त हो सकती है। मनुष्य को स्वस्थ रहने के लिए उचित निद्रा, श्रम, व्यायाम और संतुलित आहार अति आवश्यक है। पाँचों इन्द्रियों के विषयों के सेवन में की गयी गलतियों के कारण ही मनुष्य रोगी होता है। इसमें भोजन की गलतियों का सबसे अधिक महत्त्व है।

 Story Source: पूज्य आचार्य

************************************

Bath – Method

Got up in the morning before sunrise toilet – bath should retire. Bath lawfully follows is beneficial to health.

12-15 liter bucket of water while taking bath in the sink before it heads should be soaking the feet. The first leg should not be wet. This body heat rises, which is harmful to health.

So first bucket of cold water over it. Then pour water into the mouth and the eyes Jpakayen drop in the bucket head. It increases the power of the eyes. Body rub – Take a bath rub. Rub the body with a wet cloth – the follicular Puncen rub out all the dirt falls and pore (skin pore) Top open. Many diseases of the skin from skin pores are closed. Dry or slightly damp cloth and then wipe dry body wear clean clothing. But even when the plain garments are clean. Wear no clothes before bath. Always wear washed clothes. It delights the mind.

Ayurveda has three Upstmb – diet, sleep and celibacy.

Pleasures in life – peace nor prosperity is an urgent need to achieve a healthy body and a healthy mind in a healthy body that can Vivekwati acumen. Proper sleep to stay healthy human, labor, exercise and a balanced diet is essential. The five senses due to mistakes made in the use of human subjects is patient. Is the most important meal of the mistakes.

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*