Home / Hindi / गला और छाती की बीमारी का इलाज – Healing of Throat and chest

गला और छाती की बीमारी का इलाज – Healing of Throat and chest

Healing of Throat and chest

Healing of Throat and chest :
Kinti throat worse than the illness worse, no infection, it is the claim turmeric gtk. Such as neck pain, Kras, the neck is substantial, accumulated phlegm in the throat, the throat was Tonseelaitis; Everything will be cured in a dose not have to re-insert. Surely they do little to Bco; We are very hurt when neither of Bco Tonsil operation is Ktwate Krwake them; He does not have to be all right from turmeric.

Linked to throat and chest diseases like something substantial; The treatment is so sore from putting raw turmeric juice is fine, no matter how loud Tutnt be substantial. Ginger second claim, that this is a small piece of ginger Rklo in mouth and tied Tutnt will significantly Chuso like Tuffy. So if anyone has red Khasate Khasate face it, a bit of ginger juice and juice drink Take a spoon and drain combine two or Sehd little good. This little drink now and then heated red face who has had his fair Khasate Khasate will be bound in a minute. And a gtk claims, pomegranate juice and hot drink is ok so much instantly.

Bimaria of the chest such as asthma, asthma, asthma bronchiole, these three diseases cow urine is the best medicine; ½ cup of morning drink fresh cow urine is the cure asthma, asthma is asthma bronchiole is. TB is cured by drinking cow urine, too, has to drink five consecutive six months.
– With Bijender Singh Chambyal.

***************************************

गला और छाती की बीमारी का इलाज :
गले में किनती भी ख़राब से ख़राब बीमारी हो, कोई भी इन्फेक्शन हो, इसकी सबसे अछि दावा है हल्दी । जैसे गले में दर्द है, खरास है , गले में खासी है, गले में कफ जमा है, गले में टोनसीलाईटिस हो गया ; ये सब बिमारिओं में आधा चम्मच कच्ची हल्दी का रस लेना और मुह खोल कर गले में डाल देना , और फिर थोड़ी देर चुप होके बैठ जाना तो ये हल्दी गले में निचे उतर जाएगी लार के साथ ; और एक खुराक में ही सब बीमारी ठीक होगी दुबारा डालने की जरुरत नही । ये छोटे बछो को तो जरुर करना ; बछो के टोन्सिल जब बहुत तकलीफ देते है न तो हम ऑपरेशन करवाके उनको कटवाते है ; वो करने की जरुरत नही है हल्दी से सब ठीक होता है ।

गले और छाती से जुडी हुई कुछ बीमारिया है जैसे खासी ; इसका एक इलाज तो कच्ची हल्दी का रस है जो गले में डालने से तुतंत ठीक हो जाती है चाहे कितनी भी जोर की खासी हो । दूसरी दावा है अदरक , ये जो अदरक है इसका छोटा सा टुकड़ा मुह में रखलो और टफी की तरह चुसो खासी तुतंत बंध हो जाएगी । अगर किसीको खासते खासते चेहरा लाल पड़ गया हो तो अदरक का रस ले लो और उसमे थोड़ा पान का रस मिला लो दोनों एक एक चम्मच और उसमे मिलाना थोड़ा सा गुड या सेहद । अब इसको थोडा गरम करके पी लेना तो जिसको खासते खासते चेहरा लाल पड़ा है उसकी खासी एक मिनट में बंध हो जाएगी । और एक अछि दावा है , अनार का रस गरम करके पियो तो खासी तुरन्त ठीक होती है । काली मिर्च है गोल मिर्च इसको मुह में रख के चबालो , पीछे से गरम पानी पी लो तो खासी बंध हो जाएगी, काली मिर्च को चुसो तो भी खासी बंध हो जाती है ।

छाती की कुछ बिमारिया जैसे दमा, अस्थमा, ब्रोंकिओल अस्थमा, इन तीनो बीमारी का सबसे अच्छा दवा है गाय मूत्र ; आधा कप गोमूत्र पियो सबेरे का ताजा ताजा तो दमा ठीक होता है, अस्थमा ठीक होता है, ब्रोंकिओल अस्थमा ठीक होता है । और गोमूत्र पिने से टीबी भी ठीक हो जाता है , लगातार पांच छे महीने पीना पड़ता है । दमा अस्थमा का और एक अछि दावा है दालचीनी, इसका पाउडर रोज सुबह आधे चम्मच खाली पेट गुड या सेहद मिलाके गरम पानी के साथ लेने से दमा अस्थमा ठीक कर देती है।
— with Bijender Singh Chambyal.

  Story Source: पूज्य आचार्य

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


*