Home / Hindi / Soy , stomach or Shepu – सोया , सुआ या शेपू

Soy , stomach or Shepu – सोया , सुआ या शेपू

Soy

Soy , stomach or Shepu 
– Leafy Green Vegetables are these days . Many fresh leafy vegetables such as spinach , fenugreek , soy , bathua , getting mustard .
– Today is aware of them slept . Dill in English it is known by this name .
– The leaves of the plant look like fennel . Its kinda grow to like fennel seeds .
– The seeds are called Bnsunf . Baळnt fennel is also known in Marathi .
– The current maternal woman eating celery and grated coconut chew chew food with well- known Bnsunf . It does not increase Vata . Milk descends well .
– Ajwai – Bnsunf sister’s body has not evolved to eat after delivery .
– This leafy green vegetable is also fed after Prasuti .
– Winter Fenugreek soy or soy spinach , moong dal – such as soy or corn bread with vegetables, wild millet is eaten .
– Many people make the sauce is too .
– Bnsunf glossy , sharp , increase in appetite , hot, antidysuric , Buddhivrdhk , cuff and is Waunashk .
– The drug throat, colic , ophthalmic , thirst , diarrhea etc. are destroyed .
– The vegetable “dietary sweep” is called . Stomach hamper the work of the expulsion of air from the vegetable variety is excellent .
– Be gas in the stomach , indigestion , Kshudhamandy , Krimi on a number lightsome system disorders, this vegetable is healthy .
– The ranking is like this many times, but it is quite healthy and medicinal .
– There are many herbal oil Yugenol oil from which regulates blood sugar . Because this vegetable is very good for diabetic patients .
– It ‘s like fenugreek and spinach “A ” , ” A” Jivnsattw , folic ऍsid and are bases is important .
– For those whose lifestyle is sitting pretty good vegetable to work . Less physical labor due to the heavy loss of stomach , loss of appetite , Afara , indigestion etc. This vegetable is a definitive diagnosis of problems .
– It is helpful for insomnia .
– High blood pressure , kidney disease, headaches , heart etc. The positive effects have been observed .
– Severe hiccups , and use it for coughs . , It clears mucus .
– For cosmetic purposes, dill is used as a lotion .
– It lowers inflammation around the eyes .
– By applying the temporal grinding fennel dizziness and headache cools down due to heat stroke .
– The Patten and find the root cause of arthritis pain and inflammation grinding is fine .
– Quickly boil the leaves with oil binders hot marinade is broken .
– Remove the leaves with good pick or lower bound is overtly menstruation .
– Soft drink a cup of fennel bile from the fever cools down .

******************

सोया , सुआ या शेपू
– इन दिनों हरी पत्तेदार सब्जियों की बहार है. अनेक ताज़ी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक , मेथी , सोया , बथुआ , सरसों मिल रही है.
– आज इनमे से सोया के बारे में जानते है. इसे अंग्रेजी में Dill इस नाम से जाना जाता है.
– इसके पत्ते सौंफ के पौधे की तरह दिखते है. इसके बीज भी सौंफ की तरह ही पर थोड़े बड़े होते है.
– इसके बीजों को बनसौंफ कहा जाता है. मराठी में इन्हें बाळंत सौंफ के नाम से जाना जाता है.
– सद्य प्रसूता महिला को भोजन के बाद अजवाइन और कसे हुए नारियल के साथ बनसौंफ खूब चबा चबा कर खाने को कहा जाता है. इससे वात वृद्धि नहीं होती. दूध अच्छी तरह उतरता है.
– अजवाई-बनसौंफ खाने से डिलीवरी के बाद बहनों का शरीर नहीं फूलता.
– इसकी पत्तेदार हरी सब्जी भी प्रसुती के बाद खिलाई जाती है.
– सर्दियों में मेथी सोया या पालक सोया , मूंग की दाल -सोया ऐसी सब्जियां बाजरे या मक्के की रोटी के साथ बड़े चाव से खाई जाती है.
– कई लोग इसकी चटनी भी बनाते है.
– बनसौंफ स्निग्ध,तीखी, भूख बढाने वाली ,उष्ण, मूत्ररोधक,बुद्धिवर्धक , कफ व वायूनाशक है.
– इसके सेवन से दाह, शूल, नेत्ररोग ,प्यास ,अतिसार आदि का नाश होता है.
– इसकी सब्जी को “आहारीय झाड़ू” कहा जाता है.पेट में रुकावट डालने वाली वायु के निष्कासन का काम यह सब्जी उत्तम प्रकार से करती है.
– पेट में गॅस होना, अजीर्ण, क्षुधामांद्य, कृमी ऐसी अनेक पचन तंत्र की गड़बड़ियों पर यह भाजी गुणकारी होती है.
– उग्र गंध होने से यह कई बार नापसंद की जाती है पर यह बहुत गुणकारी और औषधीय है.
– इसमें अनेक औषधी तेल होते है जिसमे से युगेनॉल तेल रक्‍तशर्करा नियंत्रित करता है.इसलिए यह सब्जी मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत अच्छी है.
– इसमें मेथी व पालक की तरह “अ’, “क’ जीवनसत्त्व, फॉलिक ऍसिड व महत्त्वपूर्ण क्षार होते है.
– जिनकी जीवनशैली बैठे बैठे कार्य करने की है उनके लिए यह बहुत अच्छी सब्जी है.कम शारीरिक श्रम के कारण पेट भारी लगना , भूख कम लगना , अफारा , अजीर्ण आदि अनेक समस्याओं का निश्‍चित निदान यह सब्जी है.
– यह अनिद्रा के लिए उपयोगी है.
– उच्च रक्तचाप,गुर्दा रोग, सिर दर्द ,हृदय आदि पर इसका सकारात्मक प्रभाव देखा गया है.
– गंभीर हिचकी, और खांसी के लिए इसका प्रयोग करें.यह बलगम हटाती है.
– अंगराग प्रयोजनों के लिए सोआ लोशन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है.
– यह आँखों के आसपास की सूजन और जलन को कम करती है.
– इसकी सौंफ को पीसकर कनपटी पर लगाने से लू लगने से होने वाला चक्कर और सिरदर्द शांत होता है.
– इसके पत्तें और जड़ को पीसकर लगाने से गठिया का दर्द और सूजन ठीक होता है.
– इसके पत्तों पर तेल लगाकर गर्म कर बाँधने से फोड़ा जल्दी पककर फूट जाता है.
– इसके पत्तों का काढा गुड के साथ लेने से रुकी हुई या कम माहवारी खुलकर आती है.
– इसकी सौंफ का ठंडा शरबत पिने से पित्त ज्वर शांत होता है.

Story Source: पूज्य आचार्य

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*