Home / Hindi / Rose – गुलाब

Rose – गुलाब

Rose

You have so many poems to be read in the name of Rose . Rose color – colorful flower vase in Droingrum on just do not look good , but its petals are also major work . Rose water is used in face masks and eat it too makes Lzztdar . Rose vitamins A , B3 , C , D and E are rich . Besides calcium, zinc and iron are also just enough .

Rose bouquets of flowers called quantify . This flower is very beautiful in appearance and many properties that occupy every petals . From beautiful skin tight body – energy, rose in many works.
Morning – early morning empty stomach ate pink rose petals to two raw , freshness lasts throughout the day . That’s because Rose is such a good blood Purifayr .
Asthma , high blood pressure , bronchitis , diarrhea , cough , fever , consumption rose in disturbances of digestion is extremely useful .
Rose petals are also used to make tea . Excess toxins in the body is removed. Its petals boil drinking cold water may help relieve stress and muscle spasms are away
A vial of glycerin , lemon juice and rose water to make a slurry by mixing equal amounts . Rub two drops on the face . And will retain moisture in the skin glow and skin Velvet – will become soft .

*******************

 गुलाब के नाम पर न जाने कितनी कविताएं पढ़ी होंगी आपने। गुलाब के रंग-बिरंगे फूल सिर्फ ड्रॉइंगरूम में फूलदान पर ही अच्छे नहीं लगते, बल्कि इसकी पंखुड़ियां भी बड़े काम की हैं। गुलाब जल का इस्तेमाल फेस मास्क में भी होता है और यह खाने को भी लज्जतदार बनाता है। गुलाब विटामिन ए, बी 3, सी, डी और ई से भरपूर है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, जिंक और आयरन की भी मात्र काफी होती है।

गुलाब को यों ही फूलों का फूल नहीं कहा जाता। दिखने में यह फूल बेहद खूबसूरत है और इसकी हर पंखुड़ी में समाए हैं अनगिनत गुण। त्वचा को सुंदर बनाने से लेकर शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने में गुलाब कितने काम आता है ।
सुबह-सबेरे अगर खाली पेट गुलाबी गुलाब की दो कच्ची पंखुड़ियां खा ली जाएं, तो दिन भर ताजगी बनी रहती है। वह इसलिए क्योंकि गुलाब बेहद अच्छा ब्लड प्यूरिफायर है।
अस्थमा, हाई ब्लड प्रेशर, ब्रोंकाइटिस, डायरिया, कफ, फीवर, हाजमे की गड़बड़ी में गुलाब का सेवन बेहद उपयोगी होता है।
गुलाब की पंखुड़ियों का इस्तेमाल चाय बनाने में भी होता है। इससे शरीर में जमा अतिरिक्त टॉक्सिन निकल जाता है। पंखुड़ियों को उबाल कर इसका पानी ठंडा कर पीने पर तनाव से राहत मिलती है और मांसपेशियों की अकड़न दूर होती है।
एक शीशी में ग्लिसरीन, नीबू का रस और गुलाब जल को बराबर मात्रा में मिलाकर घोल बना लें। दो बूंद चेहरे पर मलें। त्वचा में नमी और चमक बनी रहेगी और त्वचा मखमली-मुलायम बन जाएगी।

Story Source: पूज्य आचार्य

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

One comment

  1. Wow, that’s a really clever way of thinking about it!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*