Home / Hindi / Yoga for examination – परीक्षा के लिए योग

Yoga for examination – परीक्षा के लिए योग

Yoga for examination

Yoga for examination
Now is the time for the exam. Many children would be on board.
Tratk exercise is normal in the eyes, concentration and memory also increases.
Morganatic – for as long as possible to reverse.
When there is tension, even in the examination hall, Uzzai breathing, breathing from the throat to realize once and for all. Voice sounding slightly to himself, extracted from the throat.
If you did not read, remember to put your tongue on the palate.
To sit in the examination hall before the exam, take a deep breath. Close to pronounce or possibly in mind.
Tratk sunrise, sun salutation, there is no tonic like the morning breeze.
Almonds, barley flour, cow’s ghee Buddhivrdhk diet.
The compound did not sleep at night to sleep with stress. Directly lay out the stomach when breathing out and breathing in the stomach has been abandoned; To feel that way. If sleep is good in the process, even if it were only half an hour we cleaned up the process – is refreshed.
Daily routine practice at the time to do something good.
During the half hour exam like a mind to work.

***********************

परीक्षा के लिए योग
अब मुख्य परीक्षा का समय आ गया है।कई बच्चों की बोर्ड परीक्षा होगी। परीक्षा में अच्छे अंक पाने के लिए पढ़ाई तो सभी करते है पर याद करने के लिए और समय पर पढ़ा हुआ याद आने के लिए योग और आयुर्वेद आपकी सहायता करता है।—-
– त्राटक करने से आँखों का व्यायाम तो होता ही है , एकाग्रता और याददाश्त भी बढती है।
– अनुलोम – विलोम जितनी देर हो सके करे।
– जब भी तनाव हो , परीक्षा हॉल में भी , उज्जाई श्वास ले , यानी गले से श्वास गुज़रते हुए महसूस करे। हलकी सी आवाज़ जो खुद तक ही सुनाई दे ,गले से निकाले।
– अगर पढ़ा हुआ याद ना आये तो जीभ को तालू से लगा दे।
– परीक्षा से पहले परीक्षा हॉल में बैठ कर गहरी श्वास ले। हो सके तो ॐ का उच्चारण करे या मन में करे।
– सूर्योदय का त्राटक ,सूर्य नमस्कार , सुबह की हवा जैसा टॉनिक कोई नहीं होता।
– बादाम , जौ का आटा , गाय का घी आदि बुद्धिवर्धक आहार ले।
– रात में तनाव से नींद ना आये तो यौगिक निद्रा ले।सीधे लेट कर जब श्वास ले पेट बाहर निकाले और जब श्वास छोड़े तो पेट अन्दर गया ; ऐसा देखते हुए एक एक अंग तक प्राण वायू पहुंच कर उसे ताज़ा कर रही है। ऐसा महसूस करे। इस प्रक्रिया में नींद आ जाए तो अच्छा है , ना आये तो भी आधे घंटे ये प्रक्रिया करने मात्र से हम तरो -ताज़ा हो जाते है।
– समय पर रोज़ नियमित अभ्यास करने से अच्छा कुछ नहीं।
– परीक्षा की तैयारी के दौरान भी आधा घंटा कोई मन पसंद काम करे।

Story Source: पूज्य आचार्य

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*