Home / Hindi / Cauliflower – फूलगोभी

Cauliflower – फूलगोभी

Cauliflower

Cauliflower

Cauliflower vegetable is prevalent throughout India and is cultivated almost everywhere . Our country would not be such a kitchen where not met cauliflower . Its botanical name is Botroytis Brasika Oleresia Vera . Many of delicious vegetables like cauliflower is ready , but very few people are aware of its medicinal properties . You ‘ll also associated traditional knowledge without being certainly will not be surprised .

– The leaves of cauliflower juice intake of various disorders associated with inflammation of the throat and neck are also removed .

– Wash the cauliflower is chewed to clean the blood and relieve many Charmrogon .

– Proteins found the iron and provides strength to the body .

– Cauliflower and 1 glass of carrot juice to prepare the same amount twice daily to deliver benefits to the patient with jaundice .

– If a cup cabbage juice daily on an empty stomach if consumed to relieve colitis , and abdominal pain related disorders .

– Before going to bed , taking cabbage juice relieves constipation problem . Often complain of a burning sensation in urine , they should eat more vegetables cauliflower .

– Calcium, phosphorus , protein , carbohydrates and iron plus vitamin A, B , C , iodine , and potassium and small – small amount of copper is also present .

– If the problem of bleeding gums cauliflower leaves juice and rinse it . Will stop bleeding gums . Cauliflower inflammation of the gums by chewing ends .

– Cauliflower leaves plenty of juice is beneficial in arthritis pain .
At least three months from the juice consumed every kind of holiday is pain .

************************

फूलगोभी

फूलगोभी संपूर्ण भारत में सब्जी के तौर पर प्रचलित है और इसकी खेती भी लगभग सभी जगह की जाती है। हमारे देश की कोई ऐसी रसोई नहीं होगी, जहां फूलगोभी ना मिले। इसका वानस्पतिक नाम ब्रासिका ओलेरेसिया वेरा बोट्रायटीस है। फूलगोभी से कई तरह की स्वादिष्ट सब्जियां तैयार की जाती है, लेकिन बहुत ही कम लोग इसके औषधीय गुणों से परिचित हैं। यदि आप भी इससे जुड़े पारंपरिक ज्ञान को जानेंगे तो निश्चित ही आश्चर्यचकित हुए बगैर नहीं रहेंगे।

– फूलगोभी की पत्तियों के रस का सेवन गले की सूजन और गले से सबंधित अनेक विकारों को भी दूर करता है।

– फूलगोभी को धोकर चबाने से खून साफ होता है और अनेक चर्मरोगों में आराम मिलता है।

– लौह तत्व और प्रोटीन्स पाए जाने के कारण यह शरीर को शक्ति प्रदान करती है।

– फूलगोभी और गाजर का रस समान मात्रा में तैयार कर 1 गिलास प्रतिदिन दिन में दो बार देने से पीलिया के रोगी को फायदा होता है।

– यदि प्रतिदिन खाली पेट एक कप गोभी के रस का सेवन किया जाए तो कोलाइटिस और पेट दर्द से संबंधित विकारों में आराम मिलता है।

– रात को सोने से पहले गोभी का रस पी लिया जाए तो कब्जियत की समस्या में राहत मिलती है। जिन्हें अक्सर पेशाब में जलन की शिकायत हो, उन्हें फूलगोभी की सब्जी ज्यादा खानी चाहिए।

– इसमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और लौह तत्व के अलावा विटामिन ए, बी, सी, आयोडीन, और पोटैशियम तथा थोड़ी-सी मात्रा में तांबा भी मौजूद होता है।

– मसूड़ों से खून आने की समस्या हो तो फूलगोभी के पत्तों का रस बनाकर उससे कुल्ला करें। मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाएगा। फूलगोभी को चबाने से मसूड़ों की सूजन खत्म हो जाती है।

– फूलगोभी के पत्तों के रस का सेवन गठिया के दर्द में भी लाभकारी होता है।
कम से कम तीन माह तक इस रस का सेवन करते रहने से हर तरह के दर्द की छुट्टी हो जाती है।

Story Source: पूज्य आचार्य

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


*