Home / Hindi / शिमला मिर्च – Capsicum

शिमला मिर्च – Capsicum

Capsicum

Capsicum

Capsicum is well known ? Can be seen in every Indian kitchen . It is eaten as a vegetable wild . Capsicum mixed with other vegetables are not only better their tone , but their flavor is added to other vegetables are also good .

– According to experts, is to lose weight by eating vegetables capsicum . The carbohydrates and fats are found in small quantities . Therefore it is helpful in keeping the body fit .

– People who eat a lot of capsicum , the hip pain , joint pain and problems, such as ischialgia are rare . Kepsaysin key chemicals found in capsicum pain relief is considered .

– Capsicum rich in vitamins A, B and C are found . So it works like a tonic .

– Tribal capsicum cholesterol drug treats infallible . Modern research has determined that the body’s metabolic actions planned capsicum helps to reduce the Troyglisseraid .

– According to recent research capsicum beta- carotene , and vitamin C Lyutin and Jiaksenthin key chemicals are found . Frequent intake of beta- carotene and retinol capsicum into the body converts . In fact, a form of vitamin A retinol . The combined effect of all these chemicals heart related diseases, ओस्टियोआर्थरायटिस , Bronkaytis , problems like asthma tremendous benefit.

– Lycopene is also found in capsicum . It is very effective in resolving problems such as stress and depression occurs .

– Capsicum hypertension ( high blood pressure) is extremely beneficial for patients .

********************

शिमला मिर्च

शिमला मिर्च को कौन नहीं जानता? हर भारतीय रसोई में इसे देखा जा सकता है। इसे बड़े चाव से सब्जी के तौर पर खाया जाता है। शिमला मिर्च को अन्य सब्जियों में मिलाकर न सिर्फ उनकी रंगत बेहतर की जाती है, बल्कि इसे अन्य सब्जियों में मिलाने पर उनका जायका भी अच्छा हो जाता है।

– जानकारों के अनुसार शिमला मिर्च की सब्जी खाने से वजन कम होता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट और वसा कम मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए यह शरीर को फिट रखने में मददगार होती है।

– जो लोग अक्सर शिमला मिर्च का सेवन करते हैं, उन्हें कमर दर्द, सायटिका और जोड़ों के दर्द जैसी समस्याएं कम होती हैं। शिमला मिर्च में पाया जाने वाला प्रमुख रसायन केप्सायसिन दर्द निवारक माना जाता है।

– शिमला मिर्च में भरपूर मात्रा में, विटामिन ए, बी और सी पाए जाते हैं। इसीलिए यह एक टॉनिक की तरह काम करता है।

– शिमला मिर्च को आदिवासी कोलेस्ट्रॉल की अचूक दवा मानते हैं। आधुनिक शोधों से ज्ञात हुआ है कि शिमला मिर्च शरीर की मेटाबॉलिक क्रियाओं को सुनियोजित करके ट्रायग्लिसेराईड को कम करने में मदद करती है।

– आधुनिक शोधों के अनुसार शिमला मिर्च में बीटा केरोटीन, ल्युटीन और जिएक्सेन्थिन और विटामिन सी जैसे महत्वपूर्ण रसायन पाए जाते हैं। शिमला मिर्च के लगातार सेवन से शरीर बीटा केरोटीन को रेटिनोल में परिवर्तित कर देता है। रेटिनोल वास्तव में विटामिन ए का ही एक रूप है। इन सभी रसायनों के संयुक्त प्रभाव से दिल से संबंधित बीमारियों, ओस्टियोआर्थरायटिस, ब्रोंकायटिस, अस्थमा जैसी समस्याओं में जबरदस्त फायदा होता है।

– शिमला मिर्च में लाइकोपिन भी पाया जाता है। यह तनाव और डिप्रेशन जैसी समस्या को दूर करने में बहुत कारगर होता है।

– शिमला मिर्च उच्च रक्त चाप (हाई ब्लड प्रेशर) के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

Story Source: पूज्य आचार्य

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)
  • Password = www.parsseh.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*