Home / Hindi / Papaya – पपीता

Papaya – पपीता

Papaya

 Papaya

Papaya is a fruit not only wealth but also have medicinal properties .
The fruit protein , beta – carotene , Thiamin , Riboflavin and vitamins are found . Rich in vitamins A , B and C as well as some vitamins – D gets . Papaya is the only natural source of pepsin , a digestive element . Get good amounts of calcium and carotene . In addition, phosphorus , potassium , iron , antioxidants , carbohydrates and proteins takes place. Papaya is available in the market throughout the year .
Pimply milk derived from papaya on tree planting to recover more quickly . Flon leaving milk and give children die from stomach worms come out .
Papaya root ( 10 g ) and Kulthy ( 50 g ) with a mixture of the solution by taking advantage of hemorrhoids . Papaya juice mixed with milk and sugar in the night insomnia, which benefits from drinking . Destructor bile papaya , fruit Viryvrdhk and is an excellent digestive .
The juicy fruits are nutritious and meet many vitamins , eating regularly is not a lack of vitamins in the body ever . The sick person is given including papaya fruit , not because of its many advantages

Advantage of being easily absorbed by the body very quickly leads . Papaya is a fruit which is eaten as both raw and cooked . Raw fruit appears green , mostly vegetable it is created . Much as ripe papaya fruit is eaten .

Property

Papaya is very beneficial to the stomach . This is generally the digestive system and colon disease are away . The three major diseases of the stomach papaya mango , vata and pitta relief in all three leads . It is good for the intestines .

Papaya large amounts of vitamins – A, that is . Therefore it is considered best for the eyes and skin . This vision is so good , healthy skin , is clean and bright .

Calcium also get plenty of papaya . So it makes bones stronger .

It helps digest protein .

Papaya is a good source of fiber .

The anti – inflammatory , anti-cancer and also has healing properties .

Those who time and again cold – cough is usually quite beneficial for them to have a regular intake of papaya . The immune system is stronger .

To better develop the necessary nutrients for growing children are found . To nourish the body as well as the disease is far too Bgata .
Papaya due to laxative abuse among pregnant women is considered taboo .

**************************

पपीता

पपीता न सिर्फ़ एक फ़ल है बल्कि औषधिय गुणों का खजाना है। 
इस फ़ल में प्रोटीन, बीटा- केरोटीन, थायमिन, रीबोफ़्लेविन और कई विटामिन्स पाए जाते है। प्रचुर मात्रा में विटामिन ए, बी और सी के साथ ही कुछ मात्रा में विटामिन-डी भी मिलता है। पपीता पेप्सिन नामक पाचक तत्व का एकमात्र प्राकृतिक स्रोत है। इसमें कैल्शियम और कैरोटीन भी अच्छी मात्रा में मिलता है। इसके अलावा फॉस्फोरस, पोटेशियम, आयरन, एंटीऑक्सीडेंट्स, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन भी होता है। पपीता सालभर बाजार में उपलब्ध होता है।
पपीते के पेड से निकलने वाला दूध मुहाँसो पर लगाने से जल्दी ठीक हो जाते है। फ़लों से निकलने वाले दूध को बच्चों को देने से पेट के कीडे मर जाते है और बाहर निकल आते है।
पपीते की जड (१० ग्राम) और कुल्थी (५० ग्राम) का मिश्रण लेकर काढा बनाकर लेने से बवासीर में फ़ायदा होता है। पपीते के रस में दूध और मिश्री मिलाकर रात को पीने से अनिद्रारोग में फ़ायदा होता है। पपीता पित्त नाशक, वीर्यवर्धक और एक उत्तम पाचक फ़ल है।
इस पौष्टिक और रसीले फल से कई विटामिन मिलते हैं, नियमित रूप से खाने से शरीर में कभी विटामिन्स की कमी नहीं होती। बीमार व्यक्ति को दिए जाने वाले फलों में पपीता भी शामिल होता है, क्योंकि इसके एक नहीं, अनेक फायदे हैं

आसानी से अवशोषित होने से यह शरीर को काफी जल्दी फायदा पहुंचाता है। पपीता एक ऐसा फल है, जो कच्चा और पका हुआ दोनों ही रूप में खाया जाता है। कच्चा फल हरे रंग का दिखाई देता है, अधिकतर इसकी सब्जी बनाई जाती है। फल के रूप में ज्यादातर पका हुआ पपीता ही खाया जाता है। 

गुण 

पपीता पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे पाचन तंत्र ठीक रहता है और पेट के रोग भी दूर होते हैं। पपीता पेट के तीन प्रमुख रोग आम, वात और पित्त तीनों में ही राहत पहुंचाता है। यह आंतों के लिए उत्तम होता है।

पपीते में बड़ी मात्रा में विटामिन-ए होता है। इसलिए यह आंखों और त्वचा के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। इससे आंखों की रोशनी तो अच्छी होती ही है, त्वचा भी स्वस्थ, स्वच्छ और चमकदार रहती है।

पपीते में कैल्शियम भी खूब मिलता है। इसलिए यह हड्डियां मजबूत बनाता है।

यह प्रोटीन को पचाने में सहायक होता है।

पपीता फाइबर का अच्छा स्रोत है।

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, कैंसर रोधी और हीलिंग प्रॉपर्टीज भी होती है।

जिन लोगों को बार-बार सर्दी-खांसी होती रहती है, उनके लिए पपीते का नियमित सेवन काफी लाभकारी होता है। इससे इम्यून सिस्टम मज़बूत होता है।

इसमें बढ़ते बच्चों के बेहतर विकास के लिए ज़रूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। शरीर को पोषण देने के साथ ही रोगों को दूर भी भगाता है।
विरेचक होने की वजह से पपीते का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिये वर्जित माना जाता है।

Story Source: पूज्य आचार्य

Down

About Mohammad Daeizadeh

  • تمامی فایل ها قبل از قرار گیری در سایت تست شده اند.لطفا در صورت بروز هرگونه مشکل از طریق نظرات مارا مطلع سازید.
  • پسورد تمامی فایل های موجود در سایت www.parsseh.com می باشد.(تمامی حروف را می بایست کوچک وارد کنید)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


*